औरैया।

बिधूना में बीईओ के पद पर तैनात लाल घेरे में पुष्पेंद्र कुमार जैन को शुक्रवार को कानपुर की विजीलेंस टीम ने गैज्युटी निकलवाने के लिए कागज को बढ़ाने के नाम पर 30 हजार रुपये लेते कार्यालय से गिरफ्तार कर लिया।

इस दौरान टीम उन्हें कार्यालय से पैदल ही कोतवाली लेकर पहुंची। जहां कागजी कार्रवाई के लिए टीम बीईओ को अपने साथ ले गई। सीओ अशोक कुमार ने बताया कि विजीलेंस टीम ने किसी शिक्षक से रिश्वत लेने के मामले में बीईओ को पकड़ा है।

बिधूना कस्बे के बस्ती निवासी शरद कुमार पु

त्र वीरेंद्र कुमार प्राथमिक विद्यालय कुर्सी में सहायक अध्यापक के पद पर तैनात हैं। उनकी ओर से निर्धारित 62 वर्ष की सेवानिवृत आयु से पूर्व 60 वर्ष पर सेवानिवृत्त लेने के लिए विकल्प पत्र बीईओ पुष्पेंद्र कुमार जैन को अगसारित करने को दिया था।

शरद कुमार ने बताया कि लगभग तीन माह पूर्व दिए गए आवेदन पर बीईओ की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा था। शिक्षक जब दो फरवरी काे बीईओ को मिला तो बात करने पर बीईओ की ओर से 30 हजार रुपये की मांग की गई थी। इस पर उसने एसपी विजीलेंस कानपुर से संपर्क कर पूरे मामले की जानकारी दी।

इस पर एसपी की ओर से टीम तैयार कर भेजी गई। जहां टीम ने बीईओ को देने के लिए पाउडर लगे नोट देने को दिए। जैसे ही शिक्षक ने रुपये दिए विजीलेंस की टीम ने मौके पर पहुंचकर रुपये समेत आरोपी बीईओ पुष्पेंद्र कुमार को पकड़ लिया। इसके बाद उन्हें कार्यालय से पैदल ही अपने साथ कोतवाली बिधूना लेकर पहुंची। जहां कागजी कार्रवाई के बाद विजीलेंस टीम आरोपी बीईओ को अपने साथ कानपुर ले गई।

आरोपी बीईओ इससे पहले सीतापुर में तैनात थे। जहां से वह 10 जुलाई 2023 को स्थानांतरण पर औरैया आए थे। पिछले सात माह से बिधूना बीईओ के पद पर तैनात थे। उधर, पूरे घटनाक्रम पर बीएसए अनिल कुमार ने बताया कि अमान्य संगठन के दो शिक्षक पहले फाइल में रुपये रखकर बीईओ के पास पहुंचे।
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *