यूपी के मुरादाबाद में तीर्थांकर महावीर यूनिवर्सिटी TMU के बीबीए BBA के छात्र का लटका मिला है बताया जाता है कि छात्रने फासी लगाकर आत्महत्या कर ली। ब्वॉयज हॉस्टल में बीबीए छात्र का शव लटका मिलने से हड़कंप मच गया। छात्र की मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है

आपको बता दें उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद स्थित तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी में बीबीए के छात्र ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। छात्र अक्षत जैन आगरा का रहने वाला था। उसका शव यूनिवर्सिटी के ब्वॉयज हॉस्टल में फंदे पर लटका मिला है। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और फोरेंसिक टीम ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

बताया गया है कि छात्र बीबीए थर्ड ईयर का पासआउट स्टूडेंट था। आज उसे घर जाना था। लेकिन, उसने घर जाने से पहले हॉस्टल में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस मौके पर पहुंच कर आत्महत्या के कारणों की जांच कर रही है। छात्र के परिवार को इस बारे में सूचना भेजी गई है

क्यों होती है मुरादाबाद के टी एम यू में आत्महत्याएं ?

इस सवाल का जवाब खोजने में प्रशासन नाकाम रहा है

यह प्रश्न अत्यंत गंभीर है की दूर-दूर से शिक्षा प्राप्त करने के लिए आए छात्र एवं छात्राओं के बीच में ही कई छात्र एवं छात्राओं ने अपनी शिक्षा बीच में छोड़कर आत्महत्या को चुना हो । टीएमयू परिसर और कई हत्याओं व आत्महत्याओं का गवा रहा है यह सिलसिला शुरू होता है वर्ष 2010 में पैरामेडिकल साइंस कॉलेज के रूप में जब इसकी स्थापना हुई थी ।

तभी से ही इसमें मोतो का सिलसिला जारी है

वर्ष 2013 में भी नीरज भड़ाना नाम की एक छात्र जो की मेडिकल प्रथम वर्ष की छात्रा थी उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में टीएमयू में मौत हो गई थी जिसमें पुलिस ने राज फाश करने के लिए कई बड़े दावे किए थे बताया जाता है छात्र के परिवार वालों ने छात्रा का बलात्कार होना बताया था इस मामले में यूनिवर्सिटी प्रशासन ने बताया था कि नीरज भड़ाना हॉस्टल के पांचवें मंजिल से गिरने की बात सामने आई थी किंतु जब पोस्टमार्टम किया गया तो वजह दम घुटने की सामने आई पोस्टमार्टम में कोई हड्डी भी टूटी नहीं मिली थी । यह मामला काफी सुर्खियों में रहा था

7 मई 2016 में भी गर्ल्स हॉस्टल के कमरे में दीक्षा अग्रवाल (22)की मौत हो चुकी है दीक्षा सातवीं मंजिल के रूम नंबर 746 में पंखे से लटकी मिली थी दीक्षा अग्रवाल पश्चिम बंगाल की रहने वाली थी ? उनकी मौत भी अभी तक पहेली बनी हुई है

वर्ष 2016 में भी कमरा नंबर 201 में फतेहपुर के रहने वाले वैभव टीएमयू से एमबीबीएस फाइनल का छात्र था जिसकी संदिग्ध परिस्थितियों में हत्या हो गई थी ।

20 अगस्त 2020 को भी कर
कोरोना कल में तीर्थंकर यूनिवर्सिटी की तीसरी मंजिल से गिरकर एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी ? इसी वर्ष कोविड संक्रमित पुलिसकर्मी व एक बैंक मैनेजर राजेश कुमार की भी गिरने से मौत हुई थी ?

24 नवंबर 2023 को भी तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी में बीटेक की छात्रा ने पांचवीं मंजिल से कूद कर आत्महत्या कर ली थी छात्र की मौत से यूनिवर्सिटी में हड़कंप मच गया था एक और बिहार की 20 वर्षीय करुणा विश्वकर्मा की मौत कैसे हुई ?

और आज 2024 में अक्षत जैन की मौत हो जाती है बड़ा सवाल यह है की किन कारणो से टीएमयू यूनिवर्सिटी में इस तरह की मौत होती रहेगी

भारतीय जनता पार्टी हो यह समाजवादी पार्टी यह बहुजन समाजवादी पार्टी के मुखिया ही क्यों ना हो मायावती ,अखिलेश यादव ,और योगी अगर कहें तो हर राजनीतिक पार्टियों के शीर्ष व कद्दावर नेता यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में शिरकत कर चुके हैं

जबकि मुरादाबाद के एक समाजसेवी के द्वारा यूनिवर्सिटी के एक दीक्षांत समारोह में जाने के लिए साफ इनकार कर दिया था यूनिवर्सिटी में इन मोतो का सिलसिला और कब तक जारी रहेगा यह कहना मुश्किल है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *